पर्यावरण – जल संरक्षण संगोष्ठी व सम्मान समारोह

सुल्तानपुर 04 जून। जय श्री फाउंडेशन की ओर से राम नरेश त्रिपाठी सभागार में पर्यावरण- जल संरक्षण, संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह व जल का संरक्षण आयोजित किया गया. जल के प्रयोग को संयमित कर एवं सफाई, निर्माण एवं कृषि आदि के लिए अवशिष्ट जल का पुनःचक्रण (रिसाइक्लिंग) कर किया जा सकता है। समारोह की अध्यक्षता करते हुए संस्था अध्यक्ष मोहित मयंक तिवारी ने लोगों को पर्यावरण और जल संरक्षण के महत्व को बताया। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सुरक्षित तो जीवन सुरक्षित। जल का संरक्षण देशीय वृक्ष-रोपण कर तथा आदतों में बदलाव लाकर भी संचित किया जा सकता है, मसलन- झरनों को छोटा करना तथा ब्रश करते वक़्त पानी का नल खुला न छोड़ना आदि।
इससे पूर्व समारोह का प्रारंभ मा सरस्वती और मंगल पांडेय के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन के साथ हुआ। बाल कलाकार हर्ष गोविन्द व भीष्म गोविंद मौर्य ने हारमोनियम और तबला वादन की थाप पर सरस्वती वंदना की।
समारोह में मेधावी विद्यार्थियों एकता वर्मा, सुधांशु सिंह, दिव्यांशु सिंह, प्रखर शर्मा,अमन मोदनवाल, सुफियान आदम और आई ए एस सौरभ बरनवाल को साल, शील्ड व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। साहित्यकार आद्या प्रसाद सिंह, सुशील पाण्डेय’साहित्येन्दु’, डॉ0 राधेश्याम सिंह, कमलनयन पांडेय, डॉ0 डी एम मिश्र, दयाराम अटल, अजमल सुल्तानपुरी और बाल कलाकार हर्ष गोविंद मौर्य, भीष्म गोविंद मौर्य व आकांक्षा तिवारी, समाजसेवियों में करतार केशव यादव, इक़बाल हैदर, शिवकांत पांडेय, अमर बहादुर सिंह, विजय विद्रोही, आशुतोष श्रीवास्तव, डॉ0 दिनकर प्रताप सिंह और पत्रकार अशोक सिंह, सत्य प्रकाश गुप्ता, दया शंकर गुप्ता, नरेंद्र द्विवेदी, विक्रम बिजेंद्र सिंह, राज खन्ना, अनिल पाठक, रमाकांत तिवारी, सुरेश मौर्य, रवि श्रीवास्तव, अनुराग द्विवेदी, मनोराम पांडेय को सम्मानित किया गया। अतिथियों को अंगवस्त्र, स्मृति चिन्ह देकर संस्था प्रवक्ता शिवकुमार तिवारी ने सम्मानित किया। समारोह को विशिष्ट अतिथि राघवेंद्र सिंह, जगजीत सिंह, बबिता जायसवाल, अजय जायसवाल, बबिता तिवारी, सोनम चिश्ती, सुधीर तिवारी फैजाबाद, मोहित सिंह व वनाधिकारी ऐ के द्विवेदी ने भी सम्बोधित किया। दयाराम अटल ने अपनी काव्य रचना पढ़ी। धन्यवाद ज्ञापन कार्यक्रम संयोजक कलीम खान ने किया। समापन उपाध्यक्ष राजेश तिवारी ने किया। समारोह में संस्था कार्यकर्ता अंकित गुप्ता, विवेक तिवारी, बालेश्वर तिवारी, शुभम मिश्र, रंजीत भार्गव, पंकज श्रीवास्तव, राधेश्याम, पंकज मिश्र, धीरेन्द्र मिश्रा, विपिन पाण्डेय, रमाकांत तिवारी, आनन्द पाण्डेय, बालकृष्ण तिवारी, संतोष पाण्डेय, शौर्य आनन्द आदि का सराहनीय योगदान रहा।