विकास ले लिए गाँव को लिया गोद

अप्लोम्ब फाउंडेशन द्वारा चलाये गए सर्वे कार्य के संपन्न होने के अवसर पर सहडा में ग्रामीणों के साथ बैठक की. इस वासर पर सहदा गाँव की समस्याओं से अवगत होते हुए वार्ड सदस्य रोहणी देवी ने बताया की गाँव में जल आपूर्ति के लिए पानी टंकी बनाया गया था लेकिन आपूर्ति हेतु जो मोटर लगाया गया था वह तीन वर्षो से ख़राब पड़ा है जिसकी सूचना विभाग को दी गई है लेकिन आजतक मरम्मत नही हो पाया है. मुख्य रूप से गाँव में पेयजल, सिचाई, विधुत एवं शिक्षा की समस्या है ग्रामीणों ने गाँव की तालाब की मरम्मत एवं जलमिनार लगाने की बात कही रोजगार की समस्या के चलते वहां के युवको को पलायन करना पड़ता है सभा में रोते हुए सतिया मसोमाथ ने बताया की उन्हें एक वर्ष से पेंसन नही मिल रहा है जिससे उसके परिवार में भूखमरी जैसी स्थिति पैदा हो गई है. शिष्ट मंडल पंचायत के मुखिया से मिलकर गाँव की समस्या से अवगत हुए उन्होंने गाँव में एक प्राथमिक चिकित्सा केंद्र की आवश्यकता पर जोर दिया. बैठक में रमेश कश्यप, वार्ड सदस्य रोहणी देवी के अलावा बनारस बिरहोर, अशोक बिरहोर, मानो देवी, फगुनी देवी, किरण भुइयां, सुनील भुइयां तथा सैकड़ो ग्रामीण ने भाग लिया. बैठक का नेतृत्व अप्लोम्ब फाउंडेशन के प्रोग्राम सचिव सुशांत मित्तल, संस्थापक सह सचिव प्रसेन सिन्हा, उपाध्यक्ष भागीरथ प्रसाद सिन्हा व मीडिया सचिव बिरेन्द्र कुमार ने की !

Health organised camp for the Students

Aasara organised a Health camp for the deal and dumb Students in Bhagalpur, Bihar. Some of the students shall be cured as suggested by the doctors and organisation will look what is required do for them. The boys were taught the ways how to maintain there good hygiene. in health camp small grooming kit was given to each student which consisted of Paste Brush mouth wash etc.

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान

School-In-A-Bag Campaign

आज मुस्कान फाउंडेशन की ओर से स्थानीय दुर्गा मंदिर में School-In-A-Bag Campaign के अंतर्गत 100 से अधिक गरीब बच्चियों के मध्य स्कूल कीट (जिसमें एक बैग के अंदर नोट बुक, कलर पेन्सिल, पेन्सिल, नैतिक शिक्षा की किताब, लंच बॉक्स, वाटर बोतल आदि सामग्री) का वितरण किया गया। इस अभियान से समाज के निम्न वर्ग के व्यक्तियों के मध्य अपने लड़की को पढ़ाने के प्रति जागरूकता में सहायक सिद्ध होगा। ये अभियान बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के दिशा में एक कदम है। संस्था के चेयरमैन श्री काशी प्रसाद गुप्ता, निदेशक अजय कुमार प्रसाद, श्रीमती तारा देवी का ये प्रयास बहुत ही सराहनीय रहा। प्रोग्राम में शहर के अधिवक्ता मोहम्मद हसन जी ने इस अभियान को सराहा । संस्था के महिला विंग के प्रमुख श्रीमती अनिता कुमारी तथा मीडिया प्रभारी श्री विनेश कुमार की उपस्थिति रही। कुछ युवा साथी जो विभिन्न कॉलेज से थे जिसमें से आकाश कुमार और आलेख कुमार की योगदान अच्छा रहा। मंच संचालन का जिम्मा संस्थान के महिला निदेशक श्रीमती गीता कुमारी के द्वारा की गई।

इस अभियान की ये शुरुआत है और आगामी कार्यक्रम के रूपरेखा पर संस्था के निदेशक श्री अजय कुमार प्रसाद जी का कहना है की आज हमारे समाज मे इतनी सरकारी मदद के बाद भी समाज के निम्न वर्ग अपनी लड़कियों को स्कूलों में भेजने से कतराते हैं तथा उन्हें घर के कार्यों में लगा दी जाती है। इस अभियान से उन्ही लड़कियों के शिक्षा प्रति उसके अभिभावकों को प्रेरित करना भी एक कार्य है।

संस्था के महिला निदेशक श्रीमती गीता कुमारी जी का कहना है कि जब एक लड़की को शिक्षा दी जाती है तो ये तीन पीढ़ियों तक शिक्षित कर जाती है।

 

डायरिया निमोनिया जागरूकता कार्यशाला का आयोजन

बिहपुर/नवगछिया| बाल संरक्षण सप्ताह के अवसर पर शिव प्राण मैटी मिशन ऑफ इंडिया के द्वारा बिहपुर प्रखण्ड के मध्य विद्यालय जमालपुर के प्रांगण में स्थित आंगनवाड़ी केंद्र पर डायरिया एवं निमोनिया से बचाव विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन शुक्रवार को किया गया.

कार्यशाला की शुरुआत मिशन सचिव डॉ सुभाष कुमार विद्यार्थी, कार्यक्रम समन्वयक डॉ सुबोध मिश्रा, आंगनवाड़ी पर्यवेक्षिका रंजना भारती, आंगनवाड़ी सेविका नीलम कुमारी के द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर की गई. इस अवसर पर मिशन सचिव डॉ विद्यार्थी ने कहा कि आज के बच्चे ही कल के भविष्य है. बच्चे ही हमारे देश के योग्य नागरिक बन राष्ट्र को सशक्त  बनाएगा इसलिए बच्चे को स्वस्थ रखने की अति आवश्यकता है. बच्चे को कई तरह की जानलेवा बीमारी डायरिया, निमोनिया आदि ग्रसित कर लेता है इससे बचाने के लिए स्वच्छता पर पूरा ध्यान देते हुए उचित ईलाज कराना चाहिए. रंजना भारती ने कहा कि बाल संरक्षण के लिए मिशन के द्वारा किये जा रहे प्रयास काफी प्रशंसनीय है. इन्होंने उपस्थित महिलाओ को कहा कि मिशन के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम को ठीक ढंग से सुने एवं बताए जा रहे बातों पर ध्यान देकर बच्चे को स्वस्थ रखें. कार्यक्रम समन्वयक डॉ मिश्रा के द्वारा उपस्थित करीब 30 महिलाओ को बच्चे में होने वाली डायरिया एवं निमोनिया जैसी  घातक बीमारी से बचाव के बारे में सविस्तार बताया गया. इस अवसर पर नवगछिया अनुमंडलीय कार्यक्रम पर्यवेक्षक सह लाइव नारायणपुर वेब न्यूज़ के संपादक पुष्पराज कुमार भी उपस्थित रहे.

पर्यावरण जागरूकता अभियान एवं वृक्षारोपण कार्यकम

पर्यावरण जागरूकता अभियान के तहत वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन उ. म. विद्यालय, शिकारपुर दानापुर, पटना में  किया गया । कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि विद्यालय के प्रधानाधापक राकेश कुमार एवं अभ्युदम अ  राइज ऑफ़ होप के सचिव  सुधांशु सुंदरम थे।
कार्यक्रम मे बच्चो को पर्यावरण संरक्षण एवं वृक्ष को अधिक संख्या में लगाने का आह्वान किया गया । कार्यक्रम में संस्था ने विद्यालय के प्रागण में आम, आमला, नारियल व महोगनी के वृक्ष लगाये एवं बच्चो को उसके संरक्षण की शपथ दिलाई गयी ।

मिशन मीरा के तहत महिला द्वारा महिलाओं के लिए उदयपुर में ई-रिक्शा

Mission Meera

श्रीनाथजी सेवा संस्थान की ओर से मिशन मीरा के तहत उदयपुर, राजस्थान में महिलाओं को ई-रिक्षा का परीक्षण दिया जा रहा है. ताकि महिलाऐं आत्म निर्भर होकर आर्थिक रूप से सक्षम हो सके.

श्रीनाथजी सेवा संस्थान और प्रादेशिक परिवहन विभाग द्वारा उदयपुर में मिशन मीरा प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई. मिशन मीरा का मुख्य उद्देश्य महिलाओं द्वारा महिलाओं की सुरक्षा करना है. मिशन मीरा के तहत महिओलाओं को ई-ऑटोरिक्शा प्रदान किया जायेगा.

ई-ऑटोरिक्शा के संचालन और चलने का प्रशिक्षण भी श्रीनाथजी सेवा संस्थान और प्रादेशिक परिवहन विभाग द्वारा दिया जाता है. मिशन मीरा के तह महिलाओं महिला रोजगार के लिए जून 17 में प्रशिक्षण दिया गया. इस प्रशिक्षण के लिए तीसरे बैच को ई-रिक्शा चलने के लिए शुरू किये गए बैच का उद्घाटन उदयपुर के जिला कलेक्टर ने किया. इस अवसर पर मिशन मीरा के प्रोजेक्ट संचालक और प्रादेशिक परिवहन अधिकारी डॉ. मन्ना लाल रावत, श्रीनाथजी सेवा संस्थान की अध्यक्ष साधना खथुरिया, जिले प्रमुख अधिकरीगण और नागरिक मौजूद थे. इस समारोह में पुराने बैच में प्रशिक्षित 25 महिलाओं को भी प्रशिक्षण के प्रमाण पत्र और ई-रिक्शा चलाने के लाइसेंस प्रदान किये गए.
अशोक लीलैंड की अशोक लीलैंड वाहन चालक प्रशिक्षण संस्थान द्वारा रेलमगरा, उदयपुर में महिलाओं को ई-रिक्शा और कार चलाने का प्रशिक्षण दिया गया है.
इसमें घरेलु महिओलाओं को श्रीनाथजी सेवा संस्थान द्वारा ई-रिक्शा के लिए मिशन मीरा में शामिल करने के लिए उदयपुर शहर की दस बस्तियों में सर्वे करवाया गया. सर्वे में महिलाओं को मिशन मीरा से वागत करवाया गया और इससे जुड़ने के लिए प्रेरित किया गया. मिशन मेरा उदयपुर के प्रादेशिक परिवहन अधिकारी डॉ. मन्ना लाल रावत द्वारा प्रारंभ किया गया है ताकि महिलाओं को रोजगार मिल सके और महिलाओं के परिवहन के लिए महिला रिक्शा चालक उपलब्ध हो से. श्रीनाथजी सेवा संस्थान की अध्यक्ष साधना खथुरिया ने अपनी टीम के साथ मिलकर मिशन मीरा को मूर्त रूप देने की शुरुआत की जिसके तहत उदयपुर में मिशन मीरा परियोजना कार्यरूप में एक अनुकरणीय परियोजना के रूप में सामने आई है.

एनजीओ में नौकरी के नाम पर युवाओं से करोड़ों रूपये लेकर ठग फरार

दिल्ली के एक एनजीओ पर  मथुरा के करीब दस हजार युवाओं को नौकरी देने का झांसा देकर करोड़ों रूपये की धोखाधड़ी करने में मामले में रिपोर्ट दर्ज की गई है. आरोप है कि एनजीओ ने बाल कल्याण विभाग और शिक्षा क्षेत्र में नौकरी दिलाने का लालच देकर बेरोजगार युवाओं से पैसे ठगे. सभी पीड़ित युवक-युवतियों ने मदद के लिए मथुरा के जिला मैजिस्ट्रेट दफ्तर में शिकायत  है.
शिकायतों के मुताबिक, सेंट पीटर एंड मदर टेरेसा चिल्ड्रन एजुकेशन एंड वेलफेयर नाम के एक एनजीओ ने हजारों युवाओं को मुफ्त प्रशिक्षण और सुपरवाइजर व राज्य निदेशक जैसे पदों पर नियुक्ति का झांसा देकर बेवकूफ बनाया. इसके बदले एनजीओ ने सभी युवाओं से 80,000 से लेकर 1 लाख रुपये तक जमा करने को कहा. पैसे देने के बाद युवाओं को 20,000 तक की नौकरी और 5 साल के अनुबंध का फर्जी कागज दिया गया.
युवाओं का भरोसा जीतने के लिए इस एनजीओ ने अपने कुछ कर्मचारियों को कुछ महीने तक वेतन भी दिया. एनजीओ ने मथुरा में पिछले नवंबर से अपना काम शुरू किया था. इस संगठन का एक दफ्तर मथुरा-गोवर्धन सड़क पर था, जबकि इसका मुख्य ऑफिस नई दिल्ली के बदरपुर इलाके के एक पते पर पंजीकृत दिखाया गया था. आरोप है कि पैसा बटोरने के बाद एनजीओ के सदस्य अब करोड़ों रुपये लेकर फरार हो गए हैं.

बिहार में एनजीओ के जरिए धोखधड़ी करने वाले ठग जेल में भेजे

बिहार पुलिस ने ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर लोगों से करोड़ों की ठगी करने वाले एक एनजीओ के संचालक को पुलिस ने पटना में गिरफ्तार किया है.  सिविल लाइन पुलिस ने कन्या कल्याण सोसायटी नामक एनजीओ के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को गिरफ्तार किया है.
बिहार के सीपत क्षेत्र  के ग्राम कौडिय़ा की माधुरी लता राठौर की पुलिस को दी गई रिपोर्ट के आधार पर इनको पकड़ा गया है. महिला ने शिकायत में बताया था कि कन्या कल्याण सोसायटी नाम की एनजीओ जिसका कार्यालय व्यापार विहार में है, उसके निदेशक राजेश कुमार सिंह के जरिये ग्रामीण क्षेत्रों में एजेंट बनाकर धोकधडी की गई है. आरोप में बताया कि अभियुक्त जावों में जाकर कक्षा एक से 12 वीं तक की छात्राओं के नाम पर ग्रामीणों से फार्म भरवाकर पांच सौ रूपये ले रहे है. संस्था के जरिये चल रही योजना की बात कहकर इन लोगों द्वारा बालिकाओं को 15 सौ रूपये छात्रवृत्ति देने का झांसा देकर और उन बालिकाओं की आयु 18 वर्ष होने पर 50 हजार रूपये देने के आश्वासन की योजना बताकर धोखाधड़ी की गई है.
पुलिस जाँच में सामने आया कि बिहार के पटना निवासी राजेश कुमार सिंह पिता कमलेश सिंह ने वर्ष 2013 में बिलासपुर में कन्या कल्याण सोसायटी नाम से एनजीओ बनाकर व्यापार विहार में कार्यालय खोला. इसके बाद ग्रामीण क्षेत्र में एजेंट बनाये गए. उसने और उसके सहयोगियों ने लोगों को ठगने के  लिए एक योजना बनायी जिसमें कहा गया कि कक्षा पहली से 12 तक पढ़ने वाली छात्राओं के नाम प्रति वर्ष 500 रुपए जमा करने पर छात्रा को प्रतिवर्ष 1500 रुपए तक छात्रवृत्ति दी जाएगी. उसके 18 वर्ष पूरे करने पर 50 हजार अनुदान देने का झांसा भी दिया गया. एजेंटों ने गांव-गांव में घूमकर सदस्य बनाकर रुपए जमा किए लेकिन समय  पूरा होने पर लाभार्थियों को छात्रवृत्ति, विवाह अनुदान राशि और जमा रकम वापस नहीं की गई. लोगों ने जब रुपए वापस मांगे तो संस्था के संचालक व सचिव मोहम्मद ओसामा एजेंटों को धमकाने लगा. बाद में अपराधी ठग कार्यालय बंद कर फरार हो गए.
इस मामले की माधुरी लता राठौर ने आईजी पुलिस को लिखित शिकायत रिपोर्ट दी थी. महिला ने अपनी रिपोर्ट में जानकारी दी कि कन्या कल्याण सोसायटी चलने वालों के झांसे में आकर सैकड़ों ग्रामीण ठगी शिकार हो गए हैं. शिकायत के बाद सिविल लाइन पुलिस मामला दर्ज कर सोसायटी के सचिव मोहम्माद ओसामा को गिरफ्तार कर, बाद में अन्य को भी पकड़ा और उनसे पूछताछ की गई. पुलिस ने शिकायत की जांच कर सचिव मोहम्मद ओसामा को गिरफ्तार किया जिसे बाद में जेल भेजा. पुलिस ने मुख्य आरोपी को पटना के शंभुकुड़ा में छापा मारकर गिरफ्तार किया. इसके अलावा अध्यक्ष मोहर सिंह कुसरो, उपाध्यक्ष अशोक सिंह जगत को गिरफ्तार किया है. संचालक राजेश कुमार सिंह निवासी शंभुकुंड़ा थाना नौबतपुर पटना बिहार, अध्यक्ष मोहर सिंह कुसरो ग्राम दमिया थाना पाली जिला कोरबा, उपाध्यक्ष अशोक सिंह जगत निवासी मादन थाना पाली जिला कोरबा को धारा 420, 34 के तहत गिरफ्तार किया है.
मुख्य आरोपी राजेश सिंह ने पूरे क्षेत्र में एक लाख से अधिक सदस्य बनाकर 5 करोड़ रुपए जमा किए. गिरफ्तार अभियुक्तों ने लोगो से ठगी के जरिये इक्कठ्ठा किए गए धन से प्रोपर्टी और महंगी कार भी खरीदी है. इस रकम से आरोपी ने गायत्री नगर में 47 लाख रुपए का शानदार मकान खरीदा. इसके अलावा दो चार पहिया वाहन खरीदे थे. पुलिस ने मकान, वाहन और इनके दस्तावेज भी जब्त किये है.