नशा मुक्ति अभियान के तहत भिवानी में निकाली गई जनजागरूकता रैली

भिवानी. नशा मुक्ति को लेकर स्वास्थ्य विभाग हरियाणा ने नई पहल शुरू करते हुए हर जिला स्तर पर टीमें गठित कर अभियान शुरू कर दिया है. यूनाईटेड नेशन द्वारा शुरू किये गये एंटी ड्रग अभियान के तहत भिवानी में जुलाई में स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से नशा मुक्ति अभियान चलाया गया.
इसके तहत भिवानी में रेड क्रॉस सोसायटी भिवानी व सामाजिक संगठनों के संयुक्त तत्वावधान में नशा मुक्ति रैली निकाली गई, जिसमें स्कूल व कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने हाथों में झंडे-बैनर लेकर शहर के प्रमुख चौराहों से गुजरते हुए नशे से दूर रहने का संदेश दिया.
इस चेतना रैली में डॉ. सुमन व प्रोडक्शन ऑफिसर डॉ. मनोज ने बताया कि, नशे की प्रवृत्ति से बचने के लिए न केवल नशा विरोधी नियमों का पालन करना चाहिए, बल्कि अभिभावकों को विशेष ध्यान रखना चाहिए, ताकि वे नशे की तरफ आकर्षित न हों. इसके लिए अभिभावकों को बच्चों की प्रवृत्ति का ध्यान रखते हुए उनकी बात सुननी चाहिए. वहीं, बच्चों को भी यह चाहिए वे अपने माता-पिता से हर तरह की समस्या को साझा करें, ताकि वे अवसाद ग्रस्त होकर नशाखोरी की तरफ अग्रसर होने से बच सकें.
भिवानी के सिविल सर्जन अधिकारी के अनुसार इस अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग ने सार्वजनिक स्थलों पर नशीले पदार्थो के सेवन करने वालों के खिलाफ एंटी ड्रग टीम तैयार की है, जो छापेमारी कर सार्वजनिक स्थलों पर बीड़ी, सिरगेट, तम्बाकू, शराब का सेवन करने वाले लोगों की धर-पकड़ करने के साथ ही उनके चालान भी काट रही है. वहीं, दूसरी टीम ड्रग कंट्रोल ऑफिसर की अगुवाई में अवैध रूप से युवाओं को नशा बेचने वाले स्थानों पर छापेमारी कर गुप्त सूचनाओं के आधार पर कार्रवाई करने के लिए लगाई गई है, जो मैडिकल हॉल, गुपचुप तरीके से मादक पदार्थ स्टोर करने व बेचने वालों पर नजर रख रही है.
गौरतलब है कि जुवेनाईल एक्ट के तहत 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को बीड़ी, सिगरेट, तम्बाकू, शराब आदि बेचना कानूनन अपराध है. इस बात को लेकर भी टीम विशेष रूप से सतर्क होकर अपनी निगरानी बढ़ाएगी.

(Source: eenaduindia.com)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 5 = 1